Indian constituent assembly, construction and Memberभारतीय संविधान सभा, निर्माण और सदस्य

Indian GK, Indian Political Science, Rajasthan Political Science 0 Comments

Indian constituent assembly, construction and Memberभारतीय संविधान सभा, निर्माण और सदस्य

The first demand of the Constitution in 1895, Bal Gangadhar Tilak, “Swaraj Bill” movement launched by the Home Rule League in 0.1916 from the 0.1922 Agrejo Gyakjismen Swaraj, Gandhi sought to rule the Constituent Assembly and the Constitution demands Excellent manner and said that India would free the Indian Constitution in accordance with the wishes of the Indian people Jaagakagst created in 1928, the Nehru report. Headed by Pt. Motilal Nehru said. Its head office was in Bombay.

संविधान  की सर्वप्रथम मांग बाल गंगाधर तिलक ने  1895 मेंस्वराज विधेयकसे की गई।1916 में होमरूल लीग आन्दोलन चलाया गया।जिसमें स्वराज शासन की मांग अग्रेजो से की गई।1922 में गांधी जी ने संविधान सभा और संविधान निर्माण की मांग बहुत बढ़िया तरीके से की और कहा- कि जब भी भारत आज़ाद होगा उस समय  भारतीय संविधान का निर्माण -भारतीय लोगों की इच्छाओं के अनुसार  किया जाएगा।अगस्त 1928 में नेहरू रिपोर्ट बनाई गई। जिसकी अध्यक्षता पं. मोतीलाल नेहरू ने थी। इसका मुख्य कार्यालय  बम्बई  में बनाया गया  ।

ndia’s first written constitution was made. All India Federation of the fundamental rights of minorities, rights holders and kept under Dominiam State. The largest opposition Muslim League and the rulers of princely states. Jawahar Lal Nehru in 1929 was headed by the Congress Adivesn Lahore. Which demanded full independence.

भारत का पहला लिखित संविधान बनाया गया। जिसमें मौलिक अधिकारों अल्पसंख्यकों के अधिकारों को अखिल भारतीय संघ एवम् डोमिनियम स्टेट के अधीन रखे गए। इसका सबसे  बड़ा विरोध मुस्लिम लीग और देसी रियासतों के राजाओं ने किया गया। 1929 में जवाहर लाला नेहरू की अध्यक्षता में कांग्रेस का लाहौर अदिवेश्न हुआ। जिसमें पूर्ण स्वराज्य की मांग की गई।

Given the chaos of governance in India by the then Viceroy, Lord Wavell party meeting held in Shimla in June 1945 has not reached any conclusion. The conference ‘Simla Conference’ or known Wavell Plan Hakmarc 19 466 were in the Cabinet Mission to India. Its Chairman, Sir Lawrence Pathik ‘had the two other members of the head and a Stefrd Krims. V. Alekgendr sent back to India. The Commission attempted to drive the ruleOn the composition of the Constituent Assembly on the basis of these recommendations is as following.

भारत में शासन की अव्यवस्था को देखते हुए उस समय के वायसराय लार्ड वेवल ने जून 1945 में शिमला में सर्वदलीय बैठक बुलायी जो किसी भी  नतीजे पर नहीं पहुंची। इस सम्मेलन को शिमला सम्मेलनया वेवल योजना के नाम से जाना जाता है।मार्च 19466 में केबिनेट मिशन भारत भेजा गया। इसकी अघ्यक्षता ‘सर पैथिक लारेन्स’ ने की थी ओर  दो अन्य सदस्य सर स्टेफर्ड क्रिम्स और ए. वी. अलेक्जेण्डर को  भारत भेजा गया। इस आयोग  ने  उस समय के शासन को सही दिशा देने का प्रयास किया । ओर  इनकी सिफारिशों के आधार पर संविधान सभा की रचना की गई जो निम्न प्रकार है-

No. 389 was set in the Constituent Assembly Members.

संविधान सभा में कुल सदस्य संख्या 389 निर्धारित की गई थी ।

(1) British India was a member of the -292

ब्रिटीश भारत के -292 सदस्य थे।

(2) Chief of commissionerate – 4 members.

चीफ कमीशनरी के – 4 सदस्य थे।

(3)Princely states – 93 members were kept.

देशी रियासतों के – 93 सदस्य रखे गये थे।

(4) British India and was elected Chief Commissioner areas.

ब्रिटीश भारत और चीफ कमिश्नरी क्षेत्रों से सदस्यों का निर्वाचन किया गया।

(5) 10 million population of each member will be selected at 1.

प्रत्येक 10 लाख की जनसंख्या पर 1 सदस्य को चुना जाएगा।

सदस्यों को 3 भागों में बांटा गयाथे।

(1) सामान्य (2) मुस्लिम (3) सिख (पंजाब)

संविधान सभा की प्रमुख सक्रिय महिला सदस्य जो निम्न प्रकार है

(1)-हंसा मेहता: संविधान सभा की प्रमुख सक्रिय महिला थीं

(2)-दुर्गाबाई देशमुख: संविधान सभा की प्रमुख सक्रिय महिला थीं

(3)-सरोजिनी नायडू: संविधान सभा की प्रमुख सक्रिय महिला थीं

चार चीफ कमिश्नरी क्षेत्रों में

(1)दिल्ली (2)कुर्ग(कर्नाटक) (3)अजमेरमेरवाड़ा (4)ब्रिटिश ब्लूचिस्तान(पाक) इन क्षेत्रों को चीफ कमिश्नरी मेँ शामिल किया गया

विभाजन के बाद संविधान सभा का पुनर्गठन किया गया।

 

(1)The first meeting of the Constituent Assembly held on December 9, 1946. Schchidanand was temporarily headed by Sinha.

संविधान सभा की  प्रथम बैठक 9 दिसम्बर 1946 को  हुई। जिसकी अध्यक्ष  अस्थायी रूप से सच्चिदानन्द सिन्हा को बनाया गया था ।

(2)The second meeting was held on December 11, 1946. Whose president Dr permanently. Rajendra Prasad (who was the first President of India) was created. At the meeting, Vice President h. C. The Constitutional Advisory B. Mukherjee. N. Rao was created.

दुसरी बैठक 11 दिसम्बर 1946 को हुई। जिसकी अघ्यक्ष  स्थायी रूप से डां. राजेन्द्र प्रसाद (जो की भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे )को बनाया गया। इसी बैठक में उपाध्यक्ष एच. सी. मुखर्जी ओर सवैधानिक सलाहकार बी. एन. राव को बनाया गया।

(3)The third meeting was convened on December 13, 1946, the Constituent Assembly, in which Nehru ‘Udedeshy proposals presented. January 22, 1947, the Constituent Assembly, which was adopted. The aim was to build the preamble of the Constitution on the basis of proposals

तीसरी बैठक 13 दिसम्बर 1946 को बुलाई गई, जिसमें नेहरू जी  ने संविधान सभा मे ‘उदे्देश्य प्रस्ताव’ पेश किया । जिसको संविधान सभा ने 22 जनवरी 1947 को अपना लिया। इसी उद्देश्य प्रस्तावों के आधार पर भारतीय संविधान की प्रस्तावना निर्माण किया गया

Indian constituent: related part upload soon

indian-constitution-
indian-constitution-

 

 


Bank PO clerk, SSC, Railway (RRB), IBPS, UPSC, IAS, RAS, SBI, 1st 2nd 3rd grade teacher,REET, TET, Rajasthan police SI, Delhi police, के महत्वपूर्ण सवाल जवाब के लिए रजिस्टर करे
आप करेंट अफेयर्स, Job, सामन्य ज्ञान ओर सभी exams संबंधित Study Material की जानकारी हैतु इस पेज को Like and Visit करे
https://www.facebook.com/myshort.Trick
and WWW.myshort.in

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0