Introduction to Computer कम्प्यूटर का परिचय

Computer 0 Comments

Introduction to Computer कम्प्यूटर का परिचय

The computer is an electronic device that takes input and process (processing) computer, and provides a meaningful output Abhikl device is called in Hindi, the computer name of the computer and the Computer. Mathematical and logical operations with the order given by the computer automatically is able to।

कम्प्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो इनपुट लेता है और उस पर प्रक्रिया (processing) करके एक अर्थ पूर्ण आउटपुट देता है।कंप्यूटर को हिंदी भाषा में अभिकल डिवाइस कहा जाता है, कंप्यूटर के  अन्य नाम संगणक व परिकलक हैं। कम्प्यूटर दिए गये गणितीय  तथा तार्किक संक्रियाओं को क्रम से स्वचालित रूप से करने में सक्षम है।

Introduction to Computer
Introduction to Computer

कम्प्युटर का वर्गीकरण दो प्रकार से किया जाता है Are two types of computer classes

(1) हार्डवेयर के आधार पर   (2) सॉफ़्टवेर के आधार पर    

(1) हार्डवेयर के आधार पर   (Based on the hardware)

(1) First generation  (प्रथम पीढ़ी 1942-55)

This first-generation computer vacuum tube diode valve is used. This generation was called the diode. The first electronic computer (I. N. I. A. C.) is the first generation computer.

यह प्रथम  जनरेशन के कम्प्युटर डायोड वाल्व निर्वात ट्यूब का उपयोग किया गया है। इस जनरेशन को डायोड कहा गया। प्रथम इलेक्ट्रानिक कम्प्युटर(I. N. I. A. C.) प्रथम पीढ़ी का कम्प्युटर है।

(2) Second generation ( दूसरी पीढ़ी 1955-64)

This generation of computers, mainly logical device vacuum tube in place of the transistor has been used. The computer device for storage magnetic drum in place of the magnetic cores were used.

यह पीढ़ी के कम्प्यूटरों में मुख्य रूप तार्किक उपकरण वैक्यूम ट्युब के स्थान पर ट्रांजिस्टर का प्रयोग किया गया है। इस कम्प्युटर डिवाइस की मेमोरी के लिए मैग्नेटिक ड्रम के स्थान पर मैग्नेटिक कोर का उपयोग हुआ।

(3) Third generation (तृतीय पीढ़ी1964-75)

The generation of electronic devices such as transistors in computers has been used in place of I.C. An I.C. Transistors, Register, three capacitors are contained! The computer is smaller

इस पीढ़ी के कम्प्युटर  में इलेक्ट्रानिक डिवाइस के रूप में ट्रांजिस्टर के स्थान पर I.C का प्रयोग किया गया है। एक I.C. में ट्रांजिस्टर, रेजिस्टर, कैपेसिटर तीनों ही समाहित किया जाते है! जिससे कम्प्युटर का आकार छोटा होता गया है।

(4) Fourth generation (चतुर्थ पीढ़ी(1975-89)

In the large scale generation I.C. Happened.What possible to make millions of tiny chip is programmed to fit. This size has decreased. The name of the chip microprocessor (Microprocessor) has been.

इस पीढ़ी में लार्ज स्केल I.C. बनाना सम्भव हुआ।एक छोटे से चिप में लाखों प्रोग्राम समा सकते है। इस के, आकार में कमी आयी है। इस चिप का नाम माइक्रोप्रोसेसर (Microprocessor) दिया गया है।

(5) Fifth Generation (पांचवी पीढ़ी1989 से अब तक)

ULSI development of the computer to function and growth. optical disc. The development of this Pidhi own ability to function in the computer is being created.

ULSI  के विकास से कम्प्युटर की कार्य करने में और वृद्धि हुई है। optical disc.का विकास हुआ है।इस पिढ़ी के कम्प्युटर में स्वंय कार्य करने की क्षमता पैदा की जा रही है।

The following classification is based on the size and functionality of the computer.कम्प्युटर का आकार तथा कार्यक्षमता के आधार पर वर्गीकरण निम्नलिखित है।

(1) Super computer

The functional ability of the computer to more than 500 mega Flaps says her super computer. In this multi-processing and parallel processing can use. These 32 and 64 may work in parallel circuits. Microprocessor can share information with. .

वह कम्प्युटर जिस की कार्य करने की क्षमता 500 मेगा फ्लाप्स से अधिक हो उसे सुपर कम्प्युटर कहते हैं। इस मे मल्टी प्रोसेसिंग तथा समानान्तर प्रोसेसिंग का प्रयोग कर सकते है। इनमें 32 से 64 समान्तर परिपथों में कार्य कर सकते है। Microprocessor की सहायता से सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा सकता है।  

Major super computer – dark blue, the ultimate, the universe, the world’s first supercomputer Krekkek -1 S, which the US company in 1979 have prepared

Super computer
Super computer

प्रमुख सुपर कम्प्युटरगहरे नीले, परम, ब्रह्मांड विश्व का प्रथम सुपर कम्प्यूटर क्रे.के. -1 S  है, जिसे अमेरिका की कम्पनी ने 1979 में तैयार किया है।

Note:India’s first supercomputer (भारत का प्रथम सुपर कंप्यूटर है) =परम 8000

(2) Mainframe computer

Super computer Mainframe computer except large size of the computer called. This normally use 32 to 64 Bit Micro Processor. Multiple people can work on it. These primarily Jngnna- BANK, COLLAGE, SCHOOL

सुपर कम्प्युटर को छोड़कर बड़ा आकार वाले सभी कम्प्युटर को Mainframe computer भी कहते हैं। यह सामान्य 32 से 64 Bit Micro Processor का उपयोग करते हैं। इस पर एक से अधिक लोग  कार्य कर सकते हैं। ये मुख्यतः  जनगणना– BANK ,COLLAGE, SCHOOL

Mainframe computer
Mainframe computer

(3) Mini computer

It is a low-rate multiuser computer with less power than the mainframe and microcomputer are more functional capacity. It is about 5 to 50 times the speed of computer micro-computer has the ability to function ..

यह एक निम्न दर्जे का बहुउपयोक्ता कम्प्युटर है जो की मेनफ्रेम से कम शक्ति वाला और माइक्रो से अधिक कार्य क्षमता वाला होते है। यह कम्प्यूटर माइक्रो कम्प्यूटर से लगभग 5 से 50 गुना अधिक गति से कार्य करने की क्षमता रखता है।

(4) Micro Computer

A small digital computer, which is based on C. P. U. The Microprocessor Design. One person at a time can work. Example – households used computers, lap-top and more.

एक छोटा अंकीय संगणक, जिसका C. P. U. The Microprocessor Design पर आधारित है। यह एक समय में एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता है। उदाहरण – घरों में उपयोग किया जाने वाला कम्प्यूटर, लैप-टाप आदि ।

Classification based on the work computerकम्प्युटर को कार्य करने के आधार पर वर्गीकरण

 (1) Analog computer

Analog word means similarity in the two amounts. Analog Electronic circuits in computers with the help of a physical quantity is a change in the Power signals

Analog शब्द का अर्थ है दो राशियों में समानता । Analog कम्प्युटर में किसी भौतिक राशि को Electronic परिपथों की सहायता से Power संकेतों में बदलाव किया जाता है।

(2) Numerical computer

Electrical is a computer numerical computational tools, Numerical or symbolic information, which varies according to the specific evaluation procedures. Example – Personal Computer, Notebook lap-top etc .

अंकीय कम्प्युटर एक ऐसा Electrical गणनात्मक उपकरण है, जो कि Numerical or symbolic जानकारी को निर्दिष्ट गणनात्मक प्रक्रियाओं के अनुसार बदलता है। उदाहरण –  पर्सनल कम्प्युटर, नोटबुक लैप-टाप आदि ।।

(3) Hybrid computer

Hybrid (Hybrid) computer is a type of intermediate device. Analog is a Change in the standard figures. Features of these computers have both analog and numerical. They are used mainly in hospital

Hybrid (संकर) कम्प्युटर एक प्रकार का मध्यवर्ती उपकरण है। जो एक Analog को मानक अंको में Change करता है। इनमें अनुरूप तथा अंकिय दोनों प्रकार के संगणकों की विशेषताएं होती है। इनका इस्तेमाल अस्पताल  में मुख्य रूप से होता है।

Hybrid computer
Hybrid computer

Bank PO clerk, SSC, Railway (RRB), IBPS, UPSC, IAS, RAS, SBI, 1st 2nd 3rd grade teacher,REET, TET, Rajasthan police SI, Delhi police, के महत्वपूर्ण सवाल जवाब के लिए रजिस्टर करे
आप करेंट अफेयर्स, Job, सामन्य ज्ञान ओर सभी exams संबंधित Study Material की जानकारी हैतु इस पेज को Like and Visit करे
https://www.facebook.com/myshort.Trick
and WWW.myshort.in

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0