Rajasthan’s Loknaty राजस्थान की प्रमुख लोकनाट्य part1

Rajasthan Culture 0 Comments

 Rajasthan’s Loknaty राजस्थान की प्रमुख लोकनाट्य part 1

(1) रम्मत-(Rmmt)

Rmmt Holi is played. It Ngade the drum and. Themes- in Rmmt Camasa, Lavani, Bikaner and Jaisalmer of Ganapati Vandana is the do-it-is the Bikaner district Prasid PUSHKARNA Braharn considered proficient in the Jaisalmer district of Raval race Rmmt people.

रम्मत होली के अवसर पर खेली जाती है। ओर इसमे ढोल व नगाडे। रम्मत मे प्रसंग- चैमासा, लावणी, गणपति की वंदना की जाती है तथा यह- बीकानेर व जैसलमेर प्रसीद है ओर बीकानेर जिले के पुष्करणा ब्राहा्रण ओर जैसलमेर जिले की रावल जाति रम्मत में दक्ष मानी जाति है।

Rmmt Camasa, Lavani, Bikaner and Jaisalmer
Rmmt Camasa, Lavani, Bikaner and Jaisalmer

राजस्थान की प्रमुख रम्मते व उनके रचनाकार-(Rajasthan’s Rmmte and their Creator)

(अ) independent Bawni, Muml and Cele Tmboln -This fast poet (Jaisalmer) is written by.

स्वतंत्र बावनी, मूमल व छेले तम्बोलन -यह तेज कवि (जैसलमेर) द्वारा लिखित है।

(ब) Rmmt Amar Singh Rathore -It is opened in Bikaner check Acharya.

अमरसिंह राठौड़ री रम्मत -यह बीकानेर के आचार्य चैक में खोली जाती है।

(C) -The Jawaharlal Rmmt Hidhau my Ri is composed by the priest. In the context of this model is based on the life of husband and wife.(स)हिड़ाऊ मेरी री रम्मत -यह जवाहरलाल पुरोहित द्वारा रचित है। इसका प्रसंग मे आदर्श पति-पत्नी के जीवन पर आधारित है।

(D) re Rmmt- bohemian donor is assumed to have the Muslim community of Bikaner (द)फक्कड़ दाता री रम्मत- यह बीकानेर के मुस्लिम सम्प्रदाय की मानी जाती है।

Note: Bikaner Rmmt PATA is the result of culture.

Note : रम्मत में पाटा संस्कृति बीकानेर की देन है।

(2) ख्याल

The literal meaning of the game is to show care. Jaipur in Rajasthan is Prasid the various types of care, which follows Prasid

ख्याल का शाब्दिक अर्थ- खेल तमाशा होता है। ओर यह जयपुर की प्रसीद है ओर राजस्थान मे विभिन प्रकार की ख्याल प्रसीद है जो निम्न प्रकार से है

(आ) कुचामनी ख्याल

Nagaur district is the ideal care. RAM is considered the care of the parent coil. International artist of this care is Ugmraj. Kuchamni care to the care has been considered a comedy.

यह नागौर जिले की लोकप्रिय ख्याल है। ओर इस ख्याल का जनक लच्छी राम माना जाता है। ओर इस ख्याल का अन्तर्राष्ट्रीय कलाकार उगमराज है। ओर कुचामनी ख्याल को एक हास्य प्रधान ख्याल माना गया है।

(ब) शेखावटी ख्याल

Nanu Ram the father of Shekhawati care.

शेखावटी ख्याल का जनक नानू राम है।

(स) चिडावा ख्याल

Nanuram disciple of the father’s care Chidawa Dulia Rana.

चिडावा ख्याल का जनक नानूराम का शिष्य दुलिया राणा है।

(द) हेला ख्याल

Hela care Lalsot origin (Dausa) is. This idea is popular in Sawai Madhopur. Poet and father of the idea is Hela.

हेला ख्याल का मूल स्थान लालसोट (दौसा) है। ओर इस ख्याल सवाई माधोपुर में लोकप्रिय है। तथा इस ख्याल का जनक शायर हेला है।

(फ) तुर्रा कंलगी ख्याल

Worse Kanlgi care Gosundi (Nimbaheda- Chittorgarh) is famous. In this care is considered a reflection of Hindu-Muslim unity. In this care is the dominant role of two characters in color and panache-Bgve Klngi- green vestments Hakor panache in the care of the parent – the parent of Tukngir and plume is Shahali

तुर्रा कंलगी ख्याल घोसुण्डी (निम्बाहेडा- चित्तौडगढ) की प्रसिद्ध है। इस ख्याल मे हिन्दू-मुस्लिम एकता की परिचायक मानते है। इस ख्याल मे प्रमुख दो पात्रो की भूमिका रहती है तुर्रा-भगवे रंग के तथा कलंगी- हरे रंग के वस्त्र धारण करते है।ओर इस ख्याल में तुर्रा का जनक – तुकनगीर व कलंगी का जनक शाहअली है।

(अ) तुर्रा (शिव का पात्र) की भूमिका हिन्दू कलाकार द्वारा अदा की जाती है।

(ब) कलगी (पार्वती का पात्र) की भूमिका मुस्लिम कलाकार द्वारा अदा की जाती है।

(ग) अली बख्शी ख्याल

The original area of Alwar Ali Bakhshi care sector lends Hakali care is spared the father of Ali. Ali spared the side “of Alwar Raskhan” is called. अली बख्शी ख्याल का मूल क्षेत्र अलवर का क्षेत्र है।अली बख्शी ख्याल के जनक अली बक्ष है। ओर अली बक्ष को “अलवर का रसखान” कहते है।
(ई) किशनगढ़ी ख्याल

Kisngdhi care area around Ajmer and Jaipur is famous for the care. Kisngdhi care is the father of the Bnshidhar Sharma. किशनगढ़ी ख्याल अजमेर व जयपुर के आस-पास का क्षेत्र इस ख्याल के लिए प्रसिद्ध है। ओर किशनगढ़ी ख्याल का जनक बंशीधर शर्मा है।

(ज) बीकानेरी ख्याल

Parent care is Bikaneri red beads. बीकानेरी ख्याल जनक मोती लाल है।

(3) लीला

(अ) रासलीला (Raasleela)

In the life of Lord Krishna leela Leela mention is made of. Is popular in the eastern region of Rajasthan. The artist Antrrashtryyy Raasleela in Rajasthan, Shiv Lal Kumawat (Bharatpur) is. The main headquarters is Phulera Raasleela the Jaipur district.

रासलीला मे भगवान श्री कृष्ण के जीवन से संबंधित लीला का उलेख किया जाता है। ओर राजस्थान के पूर्वी क्षेत्र में लोकप्रिय है। ओर राजस्थान मे रासलीला का अन्तर्राष्ट्रीयय कलाकार शिवलाल कुमावत (भरतपुर) है। ओर रासलीला का प्रमुख प्रधान केन्द्र फुलेरा जयपुर जिले है।

(ब) रामलीला (Ram Leela)

Ramlila eastern region of Rajasthan is famous for. It deals with the life of Lord Ram Leela is described. Hargobind master and slave masters Ramsukh Ramlila major famous artist. The pantomime based on the enactment of Ramlila center Bissau (Jhunjhunu) is.

रामलीला के लिए राजस्थान का पूर्वी क्षेत्र प्रसिद्ध है। इसमे भगवान श्रीराम के जीवन से संबंधित लीला का वर्णन किया जाता है। रामलीला का प्रमुख प्रसिद्ध कलाकार हरगोविन्द स्वामी व रामसुख दास स्वामी। ओर रामलीला का मूकाभिनय पर आधारित रामलीला का केन्द्र बिसाऊ (झुनझुनु) है।

More part coming soon

 


Bank PO clerk, SSC, Railway (RRB), IBPS, UPSC, IAS, RAS, SBI, 1st 2nd 3rd grade teacher,REET, TET, Rajasthan police SI, Delhi police, के महत्वपूर्ण सवाल जवाब के लिए रजिस्टर करे
आप करेंट अफेयर्स, Job, सामन्य ज्ञान ओर सभी exams संबंधित Study Material की जानकारी हैतु इस पेज को Like and Visit करे
https://www.facebook.com/myshort.Trick
and WWW.myshort.in

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0