Where is the Gandhi Sagar Dam located

Description

Gandhi Sagar Dam is situated in Mandsaur district near Nimach in Madhya Pradesh. It is an important tourist destination of the state. The foundation stone of this grand dam on the Chambal river was laid on March 7, 1954, by the then Prime Minister Pandit Jawaharlal Nehru.

गांधी सागर बाँध मध्यप्रदेश में नीमच के पास मंदसौर जिले में स्थित है। यह प्रदेश का महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है। चंबल नदी पर बने हुए इस भव्य बाँध की नींव का पत्थर 7 मार्च 1954 को तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा रखा गया था।

With the second largest reservoir of India, Gandhi Sagar Dam provides shelter to thousands of migratory birds and this has been certified by the International Bird Life Agency. This dam is 204 feet high and is 514 feet long. There is a magnificent hydro electric power station on its right bank

भारत का दूसरा सबसे बड़ा जलाशय होने के साथ गांधी सागर बाँध हज़ारों प्रवासी पक्षियों को आश्रय प्रदान करता है और इसी कारण अंतर्राष्ट्रीय बर्ड लाइफ एजेंसी द्वारा इस जलाशय को प्रमाणित किया गया है। यह बाँध 204 फीट उंचा है और 514 फीट लंबा है। इसके दाहिने किनारे पर एक भव्य हाइड्रो इलेक्ट्रिक पॉवर स्टेशन है।

The buoyant route of this dam discharges 21,238 cubic meters of water per second, it proves that this dam is very large. Gandhi Sagar dam is very important in both the research and tourism.

इस बाँध का उत्प्लवान मार्ग प्रति सेकंड 21,238 क्यूबिक मीटर पानी का निर्वहन करता है, इससे यह साबित होता है कि यह बाँध बहुत बड़ा है। अनुसंधान एवं पर्यटन दोनों के संदर्भ में गांधी सागर बाँध का बहुत महत्व है।