Fundamental duties of citizens of India भारत के नागरिको के मौलिक कर्तव्य

Indian Geography, Indian Political Science, Rajasthan Political Science 0 Comments
Fundamental duties of citizens of India

Fundamental duties of citizens of India भारत के नागरिको के मौलिक कर्तव्य

In the original Constitution of India, did not mention the fundamental duty of the fundamental duty Section 4 (a) and Article 51 (a) 1976 42 th Amendment Sardar Swaran Singh Committee recommendations based on the original constitution added. Russia’s constitution was the fundamental duty in the original constitution, the fundamental duty of the fundamental duty of the number 10 had but currently is 11.

 भारत के मूल संविधान मे मौलिक कर्तव्य का उलेख नही किया गया मौलिक कर्तव्य को  भाग 4(क) ओर अनुच्छेद 51(क) 42 वें संविधान संशोधन 1976 मे सरदार स्वर्ण सिंह समिति की सिफारिशों के आधार पर मूल संविधान मे जोड़े गये। मौलिक कर्तव्य को रूस के संविधान लिया गया था ओर मूल संविधान मे मौलिक कर्तव्य की संख्या 10 रखी थी लेकिन  वर्तमान में मौलिक कर्तव्य की संख्या 11 है।

The following is the basic duty of citizens of India भारत के नागरिको के मूल कर्तव्य निम्नलिखित है

(1). Each Indian citizens to abide by the Constitution and its ideals, institutions, respect for the national flag and national anthem

 प्रत्येक भारतीय नागरिको को संविधान का पालन करे और उसके आदर्शों, संस्थाओं, राष्ट्र ध्वज और राष्ट्रगान का आदर करे

(2)Each Indian citizens for freedom that inspired our national movement held high ideals cherished in the heart and to follow them

प्रत्येक भारतीय नागरिको को स्वतंत्रता के लिए हमारे राष्ट्रीय आंदोलन को प्रेरित करने वाले उच्च आदर्शों को ह्रदय में संजोए रखे और उनका पालन करे

(3)Each deity of Indian citizens to India, to preserve the unity and integrity and kept intact

प्रत्येक भारतीय नागरिको को भारत की प्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा करे और उसे अक्षुण्ण रखे

(4)Each Indian citizens to defend the country and to serve the nation when called upon

प्रत्येक भारतीय नागरिको को देश की रक्षा करे और आह्वान किए जाने पर राष्ट्र की सेवा करे

(5)All people of all Indian citizens in India to build a sense of harmony and brotherhood similar to the religion. All discrimination based on language and region or beyond class, to abandon such practices which respect women’s Virunddh

प्रत्येक भारतीय नागरिको को भारत के सभी लोगों में समरसता और समान भ्रातृत्व की भावना का निर्माण करे जो धर्म . भाषा और प्रदेश या वर्ग पर आधारित सभी भेदभाव से परे हो, ऐसी प्रथाओं का त्याग करे जो स्त्रियों के सम्मान के विरुंद्ध है

(6)Understand the importance of the glorious tradition of Indian citizens every culture and to preserve

प्रत्येक भारतीय नागरिको को संस्कृति की गौरवशाली परंपरा का महत्व समझे और उसका परिरक्षण करे

(7)Each Indian citizens of the natural environment within which the forest, lake, river and wildlife, to protect and to promote and kind treatment of animals housed only

प्रत्येक भारतीय नागरिको को प्राकृतिक पर्यावरण की, जिसके अंतर्गत वन, झील, नदी और वन्य जीव हैं, रक्षा करे और उसका संवर्धन करे तथा प्राणि मात्र के प्रति दयाभाव रखे

(8)Each Indian citizens scientific approach, the spirit of humanism and learning to develop and improve

प्रत्येक भारतीय नागरिको को वैज्ञानिक दृष्टिकोण, मानववाद और ज्ञानार्जन तथा सुधार की भावना का विकास करे

(9)Each Indian citizens to public property and violence are preserved

प्रत्येक भारतीय नागरिको को सार्वजनिक संपत्ति को सुरक्षित रखे और हिंसा से दूर रहे

(10)Each Indian citizens in all areas of individual and collective activities attempts to move towards the climax constantly growing national effort and touches new heights of achievement

प्रत्येक भारतीय नागरिको को व्यक्तिगत और सामूहिक गतिविधियों के सभी क्षेत्रों में उत्कर्ष की ओर बढ़ने का प्रयास करे जिससे राष्ट्र निरंतर बढ़ते हुए प्रयत्न और उपलब्धि की नई ऊँचाइयों को छू ले

(11)Each Indian citizens, and that the parents or guardians of the age of six to fourteen years his, to provide educational opportunities for children or wards

प्रत्येक भारतीय नागरिको को और यदि वह माता-पिता या संरक्षक है, तो छह वर्ष से चौदह वर्ष तक की आयु वाले अपने, बालक या प्रतिपाल्य के लिए शिक्षा के अवसर प्रदान करे

Note:Mull Constitution of India in 2002, the 11th Amendment was added to the 86 fundamental duties. Each mother – father / mentor / guardian to get education for their children under 14 years of age has been fixed duty. भारत के मुल सविधान में11 वां मौलिक कर्तव्य- 86 वें संविधान संशोधन 2002 से जोड़ा गया। प्रत्येक माता – पिता/ संरक्षक/अभिभावक को अपने 14 वर्ष से कम आयु के बालकों को शिक्षा दिलाने का कर्तव्य निर्धारित किया गया है।

More click Here:Directive Principles Of The Constitution Of Indiaभारत के संविधान के नीति निर्देशक तत्व

 

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0