Natural part of Rajasthan राजस्थान के प्राकृतिक भाग

Rajasthan Geography, Rajasthan GK 0 Comments
rajasthan questions

Natural part of Rajasthan  राजस्थान के प्राकृतिक भाग

Located in the western part of Rajasthan, India. Its natural composition which has an important place in the Aravalli mountain is considered the world’s oldest. Aravali mountain Thar Desert is located in the north-western part. Bluka unique region of the country in terms of stupas. In the eastern part of the field, which are formed by the rivers in the south-western part of the plateau, which is part of the southern plateau.According to the current geographical location of Rajasthan can be divided into four natural regions 

राजस्थान भारतवर्ष के पश्चिम भाग में स्थित है। इसकी प्राकृतिक रचना में अरावली पर्वत का महत्वपूर्ण स्थान है जिसको संसार का सबसे प्राचीनतम पर्वत माना गया है। अरावली पर्वतों के उत्तर-पश्चिमी भाग में थार मरुस्थल स्थित है। बलुका स्तूपों की दृष्टि से यह देश का अद्वितीय क्षेत्र है। पूर्वी भाग में मैदान हैं जो नदियों द्वारा निर्मित हैं तथा दक्षिणी-पश्चिमी भाग में पठार हैं जो दक्षिणी पठार का ही एक भाग है। राजस्थान के वर्त्तमान भौगोलिक स्थिति के अनुसार इसे चार प्राकृतिक भागों में बाँटा जा सकता है

(1) Western sand plain or Thar Desert पश्चिमी बालुका मैदान या थार मरुस्थल

(2) Aravalli mountain range and region  अरावली श्रेणी और पहाड़ प्रदेश

(3 ) Eastern plains पूर्वी मैदान

(4) South – eastern plateau दक्षिणी-पूर्वी पठार

 

(1) Western sand plain or Thar Desert पश्चिमी बालुका मैदान या थार मरुस्थल

About 61 percent of the ground or desert sand. Aravalli ranges in Rajasthan in the west of the western sand plain or sandy ground is located. The area is also known as the Thar Desert. Part of this comes from the western border of Pakistan. The expansion mainly Ganganagar, Bikaner, Churu, Nagaur, Jodhpur, Jaisalmer, Barmer, Pali, Sirohi, Jalore, Sikar and Jhunjhunu district is. Its surface is a surface with sand and some rocks. Lack of water in this area is high.The sandy ground is full of sand dunes up to 100 meters high and sometimes 8 to 50 is 10 km long . Located in Jaisalmer and Barmer district while Churu sand dunes , which can be transferred Sinkr and Nagaur districts cairns

राज्य का लगभग 61 प्रतिशत हिस्सा बालुका मैदान या मरुस्थल है। राजस्थान में अरावली पर्वत श्रेणियों के पश्चिम में पश्चिमी बालुका मैदान अथवा रेतीला मैदान स्थित है। इस क्षेत्र को थार मरुस्थल भी कहते हैं। इस भाग की पश्चिमी सीमा पाकिस्तान से मिली है। इसका विस्तार मुख्यत: श्रीगंगानगर, बीकानेर, चुरु, नागौर, जोधपुर, जैसलमेर, बाड़मेर, पाली, सिरोही, जालौर, सीकर व झुंझुनू जिले में है। इसकी धरातलीय सतह रेत युक्त है और कहीं-कहीं चट्टान हैं। इस क्षेत्र में जल का आभाव अधिक है।

ये रेतीले मैदान रेतीले टीलों से भरे है जो कभी-कभी 50 से 100 मीटर तक ऊँचे तथा 8 से 10 किलोमीटर तक लंबे है। जैसलमेर तथा बाड़मेर में स्थित रेत के टीले स्थित है जबकि चुरु, सींकर और नागौर जिलों में ये टीले स्थानान्तरित होते रहते हैं।

Ganganagar district in three-quarters “Cgdhar field is”. It’s important ancient AND “Cgdhar” has been created by the river. The area is a little fertile. This area is also the sandy ground, sand stupas and small sand hills are. Ganganhr city and the Bhakra in the region due to problems is quite rich

श्रीगंगानगर जिले के तीन-चौथाई भाग में “छग्धर का मैदान” है। यह मैदान प्राचीन एंव महत्वपूर्ण “छग्धर” नदी द्वारा बनाया गया है। यह क्षेत्र थोड़ा उपजाऊ है। इस क्षेत्र में भी रेतीले मैदान, बालुका स्तूप और छोटी-छोटी बालू की पहाड़ियाँ हैं। अब इस क्षेत्र में भाखड़ा नगर तथा गंगानहर के आ जाने के कारण काफी समृद्ध हो गया है।

The main part of the desert land of Bikaner , Jaisalmer and Barmer in . The area slopes from east to west and north to south . In this section there is very little rain . 10 to 20 cm of rainfall average lives. Natural vegetation grows only a few Ktinli shrubs . The major animal camel while sheep , goats , cows are also bred .

रेगिस्तानी भूमि का मुख्य हिस्सा बीकानेर, जैसलमेर तथा बाड़मेर में है। इस क्षेत्र में पूर्व से पश्चिम तथा उत्तर से दक्षिण की ओर ढलान है। इस भाग में वर्षा काफी कम पाई जाती है। वर्षा का औसत 10 से 20 से.मी. रहता है। प्राकृतिक वनस्पति के नाम पर कुछ कटींली झाडियां ही उगती है। ऊँट यहां का प्रमुख पशु है जबकि भेड़, बकरियाँ, गाय भी पाली जाती है।

This area is part of the Thar Desert in the west of the Indian subcontinent Sindh, Blutistan spans ranging billion. Thar desert in the state of gypsum, lignite, etc. Multani soil minerals are found. AND livestock farming is the main enterprise of the residents. Millet and sorghum are the main crops in the western parts of Bikaner and Jaisalmer nearby canals to irrigate by groundwater boreholes with Srotron is produced.Due to the low amount of rain in the land above the percentage of the agricultural sector is low

यह क्षेत्र भारतीय उपमहाद्वीप के थार मरुस्थल का हिस्सा है जो पश्चिम में सिंध, बलूतिस्तान से लेकर अरब तक फैला है। थार के इस मरुस्थलीय प्रदेश में जिप्सम, लिग्नाइट, मुल्तानी मिट्टी आदि खनिज पाए जाते हैं। यहां के निवासियों का मुख्य उद्यम कृषि एंव पशुपालन है। बाजरा व ज्वार प्रमुख फसलें हैं जो बीकानेर क्षेत्र में पश्चिमी भागों पर नहरों से एवं जैसलमेर के समीपवर्ती भूमिगत जल स्रोत्रों से नलकूपों के द्वारा सिंचाई कर उत्पादित की जाती है। उपर्युक्त भूमि में वर्षा की कम मात्रा के कारण कृषि क्षेत्र का प्रतिशत कम है।

(2) अरावली श्रेणी और पहाड़ प्रदेश

This part upload soon

more: click Here  Rajasthan – Geographical Expansion राजस्थान – भौगोलिक स्थिति एंव विस्तार

 

rajasthan questions
rajasthan questions

 

 

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0