Introduction to Rajasthan राजस्थान परिचय

Rajasthan GK, Rajasthan History 0 Comments
Introduction to Rajasthan राजस्थान परिचय

Rajasthan is a province of India . Here is the capital city of Jaipur . Rajasthan is the largest state by area in the Republic of India . Pakistan to the west , Gujarat to the southwest , southeast Menmdhypradesh , Punjab ( India ) , Uttar Pradesh and Haryana in the north – east .

राजस्थान  भारत का एक प्रान्त है। यहाँ की राजधानी जयपुर है। राजस्थान भारत गणराज्य का क्षेत्रफल के आधार पर सबसे बड़ा राज्य है। इसके पश्चिम में पाकिस्तान, दक्षिण-पश्चिम में गुजरात, दक्षिण-पूर्व मेंमध्यप्रदेश, उत्तर में पंजाब (भारत), उत्तर-पूर्व में उत्तरप्रदेश और हरियाणा है।

देश                                                                      भारत

Established(स्थापित)                                     26 जनवरी 1950

Capital (राजधानी )                                             जयपुर

the largest city सबसे बड़ा शहर                          जयपुर

Districts(ज़िले)                                                    कुल 33

Election (चुनाव)                                                   25 loksba

high Court (उच्च न्यायालय)                       राजस्थान उच्च न्यायालय (jodhpur)

Area (क्षेत्र)                                                    कुल 3,42,239 (1,32,139 वर्ग मील)

क्षेत्र दर्जा 1st

Population जनसंख्या (2016)[1]

TOTAL कुल 74

दर्जा 7वां

Official language (आधिकारिक भाषा)              हिन्दी

Literacy साक्षरता 67% (35th)

Alternative Languages (वैकल्पिक भाषाएं)         राजस्थानी और अंग्रेजी

 

In ancient Rajasthan (प्राचीन काल में राजस्थान)

Meena Raja Amer (Jaipur), major parts of the state with the initial ruling. Meena in Rajasthan in ancient times was ruled by kings of the dynasty. Fisheries state was mentioned in the Rig Veda in Sanskrit. The Bhil and Mina, (foreigners) who Synthian, Hepthlite or with other Central Asian groups came in mixed. Meena Raja Amber (Jaipur secret) key parts of the state with the initial ruling. By the 12th century on the Gujjars of Rajasthan stateMuch of Gujarat and Rajasthan Gurjrtra (protected by Gujjars country) was known. Gurjar Pratihars 300 years across northern India was saved from Arab invaders. Therefore they called the nation later when defender Veer Gurjar caste Rajput different parts of the state took control of those parts of the naming their offspring are in line with major European or location. These were stateUdaipur, Dungarpur, Banswara, Pratapgarh, Jodhpur, Bikaner, Kishangarh, (Jalore) Sirohi, Kota, Bundi, Jaipur, Alwar, Bharatpur, Karauli, Jhalawar and Tonk. Rajasthan British ‘Rajputana’ was known. King Pratap known for its Asdharn Rajybkti and chivalry. Some of these states, along with the names of the territories referred to by the names of local and geographical features is indicative. Then the fact that most regions of RajasthanRajasthan’s most prominent dialects spoken there, then the names of the areas were kept on. Example -boli localities Dhundhad (Jaipur) says. “Mevati ‘bid Nearby Terrain Alwar’ Mewat ‘Boli’mewadi spoken in Udaipur due to Udaipur Mewar, braj-dominated area’ Brij ‘,’ Marwari ‘bid for Bikaner, Jodhpur area the ‘Marwar’ and ‘Wagdi’ Dungarpur-Banswara Adi bid on a “Vagad ‘has been called. Dungarpur and Udaipur in the southern part of the ancientDungarpur and Udaipur 56 ancient villages in the southern part of the group ” ” fifty-six ” ” known . Mahi river coastal terrain ‘ cuckoo ‘ and some plateau near Ajmer part ‘ Uprmal ” was coined .

मीणा राजा आमेर (जयपुर) सहित राजस्थान के प्रमुख भागों के प्रारंभिक शासक थे। प्राचीन समय में राजस्थान मे मीना वंश के राजाओ का शासन था। संस्कृत में मत्स्य राज्य का ऋग्वेद में उल्लेख किया गया था। बाद में भील और मीना, (विदेशी लोगों) जो स्य्न्थिअन्, हेप्थलिते या अन्य मध्य एशियाई गुटों के साथ आये थे, मिश्रित हुए। मीणा राजा अम्बर (जयपुर राज) सहित राजस्थान के प्रमुख भागों के प्रारंभिक शासक थे। १२वीं सदी तक राजस्थान के भाग पर गुर्जरों का राज्य रहा है। गुजरात तथा राजस्थान का अधिकांश भाग गुर्जरत्रा (गुर्जरों से रक्षित देश) के नाम से जाना जाता था। गुर्जर प्रतिहारों ने 300 साल तक पूरे उत्तरी-भारत को अरब आक्रान्ताओं से बचाया था। इस कारण इन्हें राष्ट्र रक्षक वीर गुर्जर भी कहा जाता है बाद में जब राजपूत जाति ने इस राज्य के विविध भागों पर अपना कब्जा जमा लिया तो उन भागों का नामकरण अपने-अपने वंश, क्षेत्र की प्रमुख बोली अथवा स्थान के अनुरूप कर दिया। ये राज्य थे- उदयपुर, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, जोधपुर, बीकानेर, किशनगढ़, (जालोर) सिरोही, कोटा, बूंदी, जयपुर, अलवर, भरतपुर, करौली, झालावाड़ और टोंक. ब्रिटिशकाल में राजस्थान ‘राजपूताना’ नाम से जाना जाता था। राजा महाराणा प्रताप अपनी असधारण राज्यभक्ति और शौर्य के लिये जाने जाते हैं। इन राज्यों के नामों के साथ-साथ इनके कुछ भू-भागों को स्थानीय एवं भौगोलिक विशेषताओं के परिचायक नामों से भी पुकारा जाता रहा है। पर तथ्य यह है कि राजस्थान के अधिकांश तत्कालीन क्षेत्रों के नाम वहां बोली जाने वाली प्रमुखतम बोलियों पर ही रखे गए थे। Example -बोली के इलाकों को ढ़ूंढ़ाड़ (जयपुर) कहते हैं। ‘मेवाती’ बोली वाले निकटवर्ती भू-भाग अलवर को ‘मेवात’, उदयपुर क्षेत्र में बोली जाने वाली बोली’मेवाड़ी’ के कारण उदयपुर को मेवाड़, ब्रजभाषा-बाहुल्य क्षेत्र को ‘ब्रज’, ‘मारवाड़ी’ बोली के कारण बीकानेर-जोधपुर इलाके को ‘मारवाड़’ और ‘वागडी’ बोली पर ही डूंगरपुर-बांसवाडा अदि को ‘वागड’ कहा जाता रहा है। डूंगरपुर तथा उदयपुर के दक्षिणी भाग में प्राचीन ५६ गांवों के समूह को “”छप्पन”” नाम से जानते हैं। माही नदी के तटीय भू-भाग को ‘कोयल’ तथा अजमेर के पास वाले कुछ पठारी भाग को ‘उपरमाल’ की संज्ञा दी गई है।

 

 

Important District

 

District              RJ Number

1 चूरू                              RJ10

2 भीलवाड़ा                        RJ06

3 जालौर                            RJ16

4 बाड़मेर                           RJ04

5 जयपुर                           RJ14

6 करौली                           RJ34

7 नागौर                           RJ21

8 दौसा                             RJ29

9 भरतपुर                         RJ05

10 धौलपुर                         RJ11

11 जोधपुर                        RJ19

12 पाली                           RJ22

13 अजमेर                        RJ01

14 सिरोही                         RJ24

15 झालावाड़                     RJ17

16 प्रतापगढ़                      RJ35

17 चित्तौड़गढ़                  RJ09

18 बूंदी                            RJ08

19 राजसमन्द                  RJ30

20 बीकानेर                    RJ07

21 कोटा                         RJ20

22 गंगानगर                  RJ13

243बांसवाड़ा                 RJ03

24 डूंगरपुर                    RJ11

25 हनुमानगढ़            RJ31

26 बारां                       RJ28

27 जैसलमेर                 RJ15

28 टोंक                        RJ26

29 सवाई माधोपुर        RJ25

30 उदयपुर                 RJ27

31 अलवर                   RJ02

32 सीकर                    RJ23

33 झुंझुनू                   RJ18

introduction-of-rajasthan-gk-question
Introduction-of-rajasthan-gk-question

 

 

 

 


Bank PO clerk, SSC, Railway (RRB), IBPS, UPSC, IAS, RAS, SBI, 1st 2nd 3rd grade teacher,REET, TET, Rajasthan police SI, Delhi police, के महत्वपूर्ण सवाल जवाब के लिए रजिस्टर करे
आप करेंट अफेयर्स, Job, सामन्य ज्ञान ओर सभी exams संबंधित Study Material की जानकारी हैतु इस पेज को Like and Visit करे
https://www.facebook.com/myshort.Trick
and WWW.myshort.in

share..Share on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0